नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ पटना के सब्ज़ीबाग़ में निर्णायक लड़ाई शुरू नागरिकता का प्रमाण मांगने वाली ये सरकार होती कौन है ?

images (11)

रिपोर्टर:-
हिंदू हो या मुसलमान हम काग़ज़ नहीं दिखायेंगे।
पूरा पटना उमड़ रहा सब्ज़ीबाग़।

फ़ासीवाद से आज़ादी के लग रहे नारे शाहीनबाग़ की तरह ही सब्ज़ीबाग़ CAA की वापसी तक डटे रहने का निश्चय।
पटना सब्ज़ीबाग़ पटना का हृदय है।
दिल्ली के शाहीनबाग़ और गया के शांतिबाग़ की तर्ज़ पर नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ औरतें,बच्चे,बूढ़े,जवान घरों से बाहर निकल गये हैं ।

पटना में सर्द हवा चल रही है,ज़िलाधिकारी ने दो दिनों के लिए स्कूल फिर बंद रखने का आदेश दिया है!
मगर सब्ज़ीबाग़ के लोग हाड़ कंपकंपाती ठंड की परवाह न करते हुए खुले आसमान में सड़क पर बैठ गये हैं।
सब्ज़ीबाग़ ठंड में भी गरम हो गया है ।
CAA,NRC,NPR के ख़िलाफ़ ग़ुस्से में है।

लोग पूछ रहे ये सरकार नागरिकता का प्रमाण मांगने वाली होती कौन है?
लोगों से शपथ लिया जा रहा है कि किसी तरह का काग़ज़ नहीं दिखायेंगे।
संकल्प दिलवाया जा रहा है कि हिंदू हो या मुसलमान कोई काग़ज़ नहीं दिखाएगा।
भीड़ से आवाज़ आती है,नहीं दिखायेंगे पूरा सब्ज़ीबाग़ धरनार्थियों से जाम हो गया है,यातायात ठप है।
सामने में पीर बहोर थाना है।थाना के सामने से सब्ज़ीबाग़ दाख़िल होते हैं।

यह रास्ता सीधे बीड़ला मंदिर जाता है।हथुआ मार्केट को यही मार्ग जोड़ता है।
सब्ज़ीबाग़ मोड़ से बायीं ओर दरियापुर को यह रास्ता जोड़ता है।
पूरा इलाक़ा व्यापार का है प्रदर्शन से सब मार्ग ठप है।
व्यापारिक गतिविधि प्रभावित है.सभी मार्ग ब्लोक है.इस ओर जाने वाली सभी रूट को डायवर्ट कर दिया गया है।
भीड़ बढ़ती जा रही है। पूरा पटना उमड़ रहा है।
बिहार में चल रहे आंदोलन को सब्ज़ीबाग़ ने तेज़ कर दिया है।
मालूम हो कि नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ आंदोलन में फ़ुलवारी शरीफ़ में आमिर हंजला की जान भी जा चुकी है ?

हारूननगर में धरना को पुलिस ने ज़बरन हटवा दिया था।
गांधी मैदान में भी धरना को पुलिस ने चलने नहीं दिया था।
सरकार पर आंदोलन को कुचलने का आरोप लग रहा है।
आज सबज़ीबाग़ अचानक सड़क पर उतर गया।
सभी धर्म के लोग धरना पर बैठे हैं !
नीतीश कुमार के लिए यह धरना चुनौती है।
कुछ उलेमा को बुला कर सरकार ने आंदोलन को दबाने का प्रयास किया था।
यह धरना आम आवाम का है। जिस में सभी मज़हब के लोग शामिल है।
रहबर भी वही और जनता भी वही।
सब्ज़ीबाग़ बिहार की राजनीति में असर रखता है।
फ़िलहाल इसका मूड गरम है।

 

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

प्रतिनिधी:- करोना व्हायरसच्या जागतिक संकटामुळे जग आर्थिक मंदीच्या उंबरठ्यावर येऊन पोहोचलं आहे. अमेरिका आणि चीनसारख्या महासत्ता करोनाच्या विळख्यात सापडल्यामुळे जगाची आर्थव्यवस्था संकटात सापडली आहे. या...

READ MORE

क्या आप चाहते है कि आपके अपनो के साथ ऐसा घटीत हो? क्यों दिया जा रहा है बेहद ही कड़ी चेतावनी भरा संदेश ?

March 27, 2020 . by admin

रिपोर्टर:- यदि आपका कोई परिवारजन कोरोना से पॉजिटिव आता है तो उसे प्रशासन उठा कर ले जाएगा। उसे अलग थलग कर देगा। उससे आपको या...

READ MORE

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष  वसीम रिज़वी ने कोरोना वायरस को लेकर जो विवादित बयान दिया है,ठीक है ऐसे में वह अगर कोरोना से मरेगा तो सब से पहले उसकी लाश को दफनाने के बजाय क्यो न जला दिया जाये ?

March 26, 2020 . by admin

रिपोर्टर:- हाल ही में कोरोना वायरस को लेकर उत्तर प्रदेश शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने एक विवादित बयान दिया था कि अगर...

READ MORE

TWEETS