किस अंदाज़ में फाइनल हो गयी नई शिक्षानीति 2019 जोअगले महीने से होगी लागू?पूरा खुलासा यहां मिलेगा !

images (57)

रिपोर्टर:-

दोपहर के भोजन के अतिरिक्त बच्चो को अब
ब्रेकफास्ट भी मिलेगा ।
शिक्षा के अधिकार का विस्तार करके इसे 1-12वीं तक किया जाएगा।
देश भर में लगभग दस लाख शिक्षकों के खाली पड़े पदों को भरा जायगा।
समेस्टर सिस्टम लागू होगा।
12वीं के बाद बीएड चार साल, बी ए के बाद दो साल एम ए के बाद एक वर्ष का होगा।

बोर्ड परीक्षा का भय कम किया जाएगा ऑनलाइन मूल्यांकन , टीचर नियुक्तियों में साक्षात्कार अवश्य लिया जायेगा।
प्रमोशन में भी विभागीय परीक्षा
गांव में तैनात शिक्षकों के लिए विशेष भते
शिक्षकों के तबादले बहुत जरूरी होने पर ही होंगे।
शिक्षकों के लिए विद्यालय के नजदीक आवास
पूरे देश मे समान पाठ्यक्रम
अध्यापकों के परिशिक्षण में जोर
व्यवसायिक शिक्षा पर बल
शिक्षक छात्र अनुपात 25-1;30-1
स्कूली स्तर पर आठवी के बाद विदेशी भाषा के कोर्स
निजी स्कूलों पर पहले से ज्यादा नियंत्रण।
निजी स्कूल के नाम में (पब्लिक) शब्द का इस्तेमाल नही कर सकेंगे।
अध्यापक पात्रता परीक्षा के बिना निजी स्कूलों में भी नियुक्त नही होंगे शिक्षक.
शिक्षा मित्र,पैरा टीचर,गेस्ट टीचरों की नियुक्ति नही होगी.
22.गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्ति
स्कूल प्रबन्धन समिति अब निजी स्कूलों में भी गठित की जाएगी।
राष्ट्रीय शिक्षा आयोग की स्थापना शिक्षा को अनिवार्य, ओर 100% साक्षरता दर हासिल करने का लक्ष्य.
सरकार का दावा  लक्ष्य बड़ा है तो कुछ मुसीबतें भी होंगी !
सब नियम सही है या गलत भी , उपस्थिति दर्ज करवाएं !
नई शिक्षा नीति 2019 (NEP-2019)
SSRA (State School Regulatory Authority) बनेगी जिसके चीफ शिक्षा विभाग से जुड़े होंगे।

4 ईयर इंटेग्रेटेड बीएड, 2 ईयर बीएड or 1 ईयर B Ed course चलेंगें।
ECCE (Early Childhood Care and Education) के अंतर्गत प्री प्राइमरी शिक्षा आंगनबाड़ी ओर स्कूलों के माध्यम से।
TET लागू होगा up to सेकंडरी लेवल।
शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से हटाया जाएगा,
सिर्फ चुनाव ड्यूटी लगेगी, BLO ड्यूटी से शिक्षक हटेंगे, MDM se भी शिक्षक हटेंगे।
स्कूलों में एसएमसी/एसडीएमसी के साथ SCMC यानी स्कूल कॉम्प्लेक्स मैनेजमेंट कमेटी बनाई जाएगी।
शिक्षक नियुक्ति में डेमो/स्किल टेस्ट और इंटरव्यू भी शामिल होंगे।
नई ट्रांसफर पॉलिसी आयेगी जिसमें ट्रांसफर लगभग बन्द हो जाएंगे, ट्रांसफर सिर्फ पदोन्नति पर ही होंगे।
ग्रामीण इलाकों में स्टाफ क्वार्टर बनाए जाएंगे, केंद्रीय विद्यलयों की तर्ज पर।

RTE को कक्षा 12 तक या 18 वर्ष की आयु तक लागू किया जाएगा।
मिड डे मील के साथ हैल्थी ब्रेकफास्ट भी स्कूलों में दिया जाएगा।
Three language based स्कूली शिक्षा होगी।
Foreign language course भी स्कूलों में शुरू होंगे।
विज्ञान ओर गणित को बढ़ावा दिया जाएगा, हर सीनियर सैकंडरी स्कूल में science or math विषय अनिवार्य होंगे।
स्थानीय भाषा भी शिक्षा का माध्यम होगी।
NCERT पूरे देश में नोडल एजेंसी होगी।
स्कूलों में राजनीति व सरकार का हस्तक्षेप लगभग समाप्त हो जाएगा।
क्रेडिट बेस्ड सिस्टम होगा जिससे कॉलेज बदलना आसान और सरल होगा बीच मे कोई भी कालेज बदला जा सकता है।

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

रिपोर्टर:- भारत के विदेश मंत्रालय ने इस देश के गृहमंत्री की अरुणाचल प्रदेश की यात्रा पर चीन की प्रतिक्रिया को पूरी तरह से रद्द कर...

READ MORE

उनकी मेहमाननवाजी में होगी काम की चर्चा, वो भी बिना कोई खर्चा !

February 22, 2020 . by admin

रिपोर्टर:- अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रम्प 24 फरवरी 2020 को दो दिवसीय दौरे पर भारत आ रहे हैं। उनके 3...

READ MORE

इस तरह दुनिया मे मोदीजी का डंका बजने में कोई कसर बाकी रह गई है क्या ?

February 22, 2020 . by admin

रिपोर्टर:- कल श्रीलंका ने हमारे 11 मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया ? बांग्लादेश की फ़ौज सीमा पर तार लगाने की मंजूरी नहीं दे रही है।...

READ MORE

TWEETS