विपक्ष की मांग क्यों हुई ख़ारिज ? नहीं होगी पर्चियों और ईवीएम मशीन के मतों का मिलान कुछ तो है गड़बड़ घोटाला !

images (2)

नई दिल्ली:-

विपक्ष को पुरे चुनाव के दरमियान लगातार झटके लगते रहे है।

अब जब चुनाव अपने अंतिम लम्हों में आ गया है तो चुनाव आयोग ने विपक्ष को एक और झटका दिया है।
चुनाव आयोग ने वीवीपीएटी पर 22 विपक्षी दलों के नेताओं की मांग को ख़ारिज कर दिया है।

विपक्षी पार्टियों की मांग थी कि चुनाव आयोग वीपीपीएटी का मिलान मतों की गिनती से पहले करे।
वोट और पर्चा में असमानता की स्थिति में विपक्षी पार्टियों ने ये मांग की थी।

विसंगति की स्थिति में किसी ख़ास लोकसभा क्षेत्र में सभी मतों का मिलान पर्चे से करने की मांग की गई थी।
तीन सदस्यों वाले चुनाव आयोग की विपक्षी पार्टियों की मांग पर बुधवार को अहम बैठक हुई और इसी बैठक में मांग को ख़ारिज कर दिया गया।

वैसे बताते चले कि विपक्ष कही न कही से इस फैसले के लिए तैयार था और मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने चुनाव आयोग से मिलने के बाद कहा था कि उनकी मांगों को लेकर आयोग ने बहुत सकारात्मक रुख़ नहीं दिखाया था।

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

रिपोर्टर:- जम्मू-कश्मीर राज्य में अब अलग झंडा नहीं होगा, राज्य के विधानसभा का कार्यकाल 6 साल का नहीं होकर पांच सालों का होगा ! राज्य...

READ MORE

जब एक छिपकली ऐसे कर सकती है, तो हम क्यों नहीं ?

August 2, 2019 . by admin

रिपोर्टर:- यह जापान में घटी, एक सच्ची घटना है। अपने मकान का नवीनीकरण करने के लिये, एक जापानी अपने मकान की दीवारों को तोड़ रहा...

READ MORE

उन्नाव रेप कांड, सुप्रिम कोर्ट का ज़बरदस्त फ़ैसला, केस दिल्ली ट्रांसफ़र करने का आदेश !

August 1, 2019 . by admin

दिल्ली :-रिपोर्ट. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने उन्नाव रेप केस की सुनवाई करते हुए इससे जुड़े सभी केस दिल्ली ट्रांसफर करने का...

READ MORE

TWEETS