विकास प्राधिकरण ने अब पकड़ी तेजी,मामला धन्नीपुर मस्जिद का है जहां जमीन पर ही संकट लेकर छापी गई थी खबर!

धन्नीपुर मस्जिद मामले में विकास प्राधिकरण ने अब पकड़ी तेजी

अयोध्या।राम मंदिर तो आधा बन गया।लेकिन मस्जिद की जमीन पर ही संकट को लेकर छपी खबर का बड़ा असर हुआ है। इसे लेकर अयोध्या विकास प्राधिकरण ने इस मामले में अब अचानक तेजी दिखानी शुरू कर दी है।

गत शनिवार को इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन के ट्रस्टी को बाकायदा प्राधिकरण कार्यालय आमंत्रित कर मस्जिद की जमीन से जुड़े विभिन्न दस्तावेज हासिल करते हुए लैंड यूज चेंज का प्रोफार्मा भराया गया।
फाउंडेशन ने उम्मीद जताई है कि शीघ्र ही प्रस्तावित मस्जिद का नक्शा पास हो जाएगा।

ऐसे बताया जा रहा है कि इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन की ओर से अयोध्या विकास प्राधिकरण को इस संबंध में आवेदन दिए दो साल हो गए थे, लेकिन प्राधिकरण द्वारा विभिन्न पेंच लगा कर हीलाहवाली की जा रही थी। कभी कृषि उपयोग की भूमि तो कभी अग्निशमन की एनओसी को लेकर मस्जिद का नक्शा अब तक पास नहीं किया गया था।

इसके बाद जब अमृत विचार में प्रमुखता से खबर प्रकाशित हुई तो शासन और प्राधिकरण में खलबली मच गई।माना जाता है कि शासन स्तर से कड़ा रुख अख्तियार करने के बाद प्राधिकरण ने मामले में अब तेजी पकड़ी है। गत शनिवार को हरकत में आए प्राधिकरण अधिकारियों ने मस्जिद की जमीन से जुड़ी प्रक्रिया तेजी के साथ शुरू कर दी।

बताया गया कि शनिवार को प्राधिकरण ने सुन्नी वक्फ बोर्ड द्वारा मस्जिद निर्माण के लिए गठित इंडो इस्लामिक कल्चर फाउंडेशन से तमाम कागज लिए। फाउंडेशन के ट्रस्टी अरशद अफजाल खान के अनुसार प्राधिकरण ने उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण के नाम शुल्क का एक बैंक ड्राफ्ट लेकर लैंड यूज चेंज का प्रोफार्मा भराते हुए हस्ताक्षर कराए।इसके अलावा प्राधिकरण ने सुप्रीम कोर्ट का वह आदेश जिसमें 5 एकड़ भूमि सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को दिए जाने, उत्तर प्रदेश सरकार का वक्फ बोर्ड को भूमि एलाटमेंट का आदेश, जिला प्रशासन द्वारा कब्जेदारी के आदेश की प्रतिलिपि भी ट्रस्ट से हासिल की।

प्राधिकरण ने इसके अलावा सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड द्वारा इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन को हस्तांतरित सेल डीड की कॉपी भी ली है। सोहावल तहसील द्वारा प्रमाणित खतौनी और प्रमाणित शजरा के साथ अन्य दस्तावेज भी संकलित किए गए। बताया जाता है कि इसे लेकर विकास प्राधिकरण बोर्ड की बैठक भी शीघ्र बुलाई जा सकती है, जिसमें मस्जिद भूमि व नक्शे को पास करने का अनुमोदन किया जा सकता है।

सोहावल तहसील क्षेत्र के धन्नीपुर गांव में बनने वाली मस्जिद का नाम ‘मस्जिद ए अयोध्या’ होगा। इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन 5 एकड़ में यहां मस्जिद बनाना चाहता है, जिसमें 2000 लोग एक साथ नमाज पढ़ सकेंगे। इसके अलावा यहां एक बड़ा कैंसर हॉस्पिटल ट्रस्ट के द्वारा बनाया जाना प्रस्तावित है जिसमें मुफ्त इलाज होगा।
एक कम्युनिटी किचन भी होगा, जिसमें एक हजार लोग रोज मुफ्त में खाना खा सकेंगे। साथ ही एक रिसर्च सेंटर लाइब्रेरी और म्यूजियम रिसर्च सेंटर बनेगा, जो कि मुस्लिम समुदाय की पहली आजादी की जंग से लेकर आज तक राष्ट्र निर्माण के योगदान में उनकी भूमिका को बताएगा।


सत्येंद्र सिंह सचिव अयोध्या विकास प्राधिकरण के अनुसार धन्नीपुर मस्जिद की भूमि से जुड़े विभिन्न दस्तावेज लिए गए हैं। इसका परीक्षण करा शीघ्र ही सम्पूर्ण प्रक्रिया पूरी की जायेगी। प्राधिकरण इसे लेकर पूरी तरह गंभीरता से कार्य कर रहा है।अरशद अफजाल खान, ट्रस्टी, इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन के मुताबिक इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन द्वारा सभी कागज प्राधिकरण को उपलब्ध करा दिए गए हैं। उम्मीद है कि शीघ्र ही नक्शा पास हो जायेगा और मस्जिद का भी निर्माण शुरू होगा।

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

पाकिस्तानी मीडिया ने की पीएम मोदी की जमकर तारीफ, कहा- भले नफरत करें लेकिन पाकिस्तान के एक प्रमुख अखबार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर...

READ MORE

कांग्रेस द्वारा मोदी जी से पूछे गए वह क्या है पांच प्रश्न और उनके जवाब का विवरण ? खुलासा जानिए

December 23, 2022 . by admin

चीनी घुसपैठ पर, प्रधानमंत्री मोदी से पांच सवाल 17 दिसंबर, 2022 को लोकसभा में कांग्रेस ने प्रधानमंत्री से चीन पर 7 प्रश्न पूछे थे, पर...

READ MORE

अगले 90दिनों में चीन की 60%से ज्यदा आबादी होगी संक्रमित लाखों लोग काल के गाल में समा जायेंगे,मचेगी तबाही?

December 21, 2022 . by admin

आगामी 90 दिनों में चीन की 60% से अधिक आबादी संक्रमित होगी COVID-19 प्रतिबंधों में ढील के बाद, चीन कोरोनोवायरस मामलों में भारी वृद्धि का...

READ MORE

TWEETS