रमज़ान(रमदान) तो सभी आसानी से कहते है परक्या आप जानते है”लफ्ज़े रमज़ान के क्या मानी होते है ?

images

रिपोर्टर:- 

रमज़ान के मानी होते है जला देने वाला यानी गुनाहो को जला देने वाला।
महीनो मे सिर्फ रमज़ान’ का नाम कुरआन सूरः बकरः 185)मे लिया गया है।

रमज़ान का नाम रमज़ान क्यो पड़ा ?

कुछ लोगों का कहना है कि जब महीनों के नाम रखे गए तो जो महीना जिस मौसम मे आया उसका नाम उसकी मुनासिबत से रख दिया गया जो महीना गर्मी मे आया उसे रमज़ान कह दिया गया।

यह रमज़ान या तो रमज़ाऊन से मुश्तहक है,रमज़ाऊन ख़रीफ मौसम की बारीश को कहते है चूकि यह दिल के गुबार को धो देता है और इसमे आमाल की खेती हरी भरी हो जाती है इसलिए इसे रमज़ान कहा गया।

या यह रमज़ुन से बना है जिसके मानी गर्मी या जलना है चूकि इस महीने मे मुसलमान भूख प्यास की शिद्दत बर्दाश्त करता है यह गुनाहों को जला देता है इसलिए इसे रमज़ान कहते है।

रमज़ान के सिफाती नाम इस महीने का दूसरा नाम माहे सब्र है जिसकी जज़ा रब है। इसलिए इसे माहे सब्र भी कहते है।

तीसरा नाम मवासात (यानी भलाई करना)है।क्योकि यह महीना हमे भलाई करना सिखाता है इसलिए इसे मवासात का महीना भी कहते है।
चौथा इस माह को वुसअते रिज़्क का महीना भी कहा गया है।

क्योकि इसमे रिज़्क की फराख़ी होती है इस माह मे गरीब से गरीब भी वह नेमअते खा लेता है जो दूसरे महीने मे नही खा पाता इसलिए इसे वुसअते रिज़्क भी कहते है।
यह महीना आपस मे अच्छे बर्ताव खुलूसे प्यार और हमदर्दी का महीना है इसमे मोमिन के रिज़्क(रोज़ी)को बड़ा दिया जाता है।

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

रिपोर्टर:- जम्मू-कश्मीर राज्य में अब अलग झंडा नहीं होगा, राज्य के विधानसभा का कार्यकाल 6 साल का नहीं होकर पांच सालों का होगा ! राज्य...

READ MORE

जब एक छिपकली ऐसे कर सकती है, तो हम क्यों नहीं ?

August 2, 2019 . by admin

रिपोर्टर:- यह जापान में घटी, एक सच्ची घटना है। अपने मकान का नवीनीकरण करने के लिये, एक जापानी अपने मकान की दीवारों को तोड़ रहा...

READ MORE

उन्नाव रेप कांड, सुप्रिम कोर्ट का ज़बरदस्त फ़ैसला, केस दिल्ली ट्रांसफ़र करने का आदेश !

August 1, 2019 . by admin

दिल्ली :-रिपोर्ट. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने उन्नाव रेप केस की सुनवाई करते हुए इससे जुड़े सभी केस दिल्ली ट्रांसफर करने का...

READ MORE

TWEETS