मानवता के नाम पर कलंक है ऐसे फोटो जर्नलिस्ट जिसने उसके सामने पड़ी लाश के ऊपर बर्बरता से उछल उछलकर कुद गया, लाश को बे दर्दी से लात मारी मुक्के मारे इंसान नही ये हैवान है

एडमिन

मुक्के मारे, लात मारी, उछल-उछल कर लाश पर कूदा, न्यूजरूम में लाश नहीं आ सकती तो एंकर अपने शो में आग जला लेता है।
लाशों पर नाचने वाले बहुत हैं, वे लाशों का इंतजार कर रहे हैं असम वाले फ़ोटो जर्नलिस्ट को मिल गईं। उसकी बर्बरता अंजाम तक पहुंच गई।
उसकी घृणा और पशुता मिश्रित विजय भंगिमा से लग रहा है कि उसका जीवन सफल हो गया।
एंकर के जीवन में ऐसी पाशविकता का क्षण अभी नहीं आया है, वह इंसानों को ‘महामारी’ बताकर संतोष कर रहा है।
बर्बरता और वहशीपन पर किसी का एकाधिकार नहीं है।
सुरक्षाबलों के संरक्षण में इसे कोई भीड़ भी अंजाम दे सकती है और कोई सफेदपोश भी।
विश्वगुरु भारत उन देशों जैसा बन रहा है, जिनसे रोज प्रतियोगिता करते हुए चैनल बहस करते हैं।
हमारी प्रतियोगिता अफगानिस्तान,पाकिस्तान, तालिबान, आईएसआईएस से है।
आपको ये नया भारत मुबारक हो.आपके विरोध के अधिकार को एक समूह के बर्बरता के अधिकार में बदल दिया गया है।
जो हो रहा है उसे किस तरह कहा जाए? जो दिख रहा है उस बारे में किससे शिकायत की जाए?
किसके आगे रोया जाए? मेरा क्षोभ, मेरा दुख, मेरी बात के भी क्या मायने हैं?
मायने तो उनकी बात के हैं जो लाखों शहादतों के बाद 70 साल में निर्मित एक लोकतंत्र को निर्ममता से कुचल रहे हैं और न्यू इंडिया के निर्माण का दावा कर रहे हैं।
एक पागल हो चुकी भीड़ का इंतजार कीजिए, अपना दरवाजा खुला रखिए, हर बर्बरता का समर्थन करते रहिए!
हम सब शायद ऐसा ही देश चाहते हैं।
न्यू इंडिया मुबारक हो साथियों!

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

एडमिन अमेरिका के साथ गहराते रिश्‍ते के बीच बाइडन प्रशासन ने एक बार फिर से भारत को रूसी रक्षा प्रणाली एस-400 को लेकर कड़ी चेतावनी...

READ MORE

क्या अमेरिका दिवालिया होने की कागरपार पहुंच गया है? क्या है पूरा मामला ?

October 7, 2021 . by admin

एडमिन अगर अमेरिकी कांग्रेस ने पहले से लिये गये लगभग 3-ट्रैलियन डॉलर पर इस साल का बक़ाया लगभग 378-अरब डॉलर का ब्याज़ अदा नहीं किया...

READ MORE

एक थे फिनलैंड के एक बहाद्दूर योद्धा फौजी सिमो हयहा, जिन्हे सोवियत की सेना व्हाइट डेथ यानी सफेद मौत के नाम से जानती थी

October 6, 2021 . by admin

एडमिन क्या कोई एक फौजी इतना तगड़ा योद्धा हो सकता है कि वो अपने देश की आर्मी से हज़ारों गुना ताकतवर आर्मी को अकेले रोक...

READ MORE

TWEETS