बिहार की बेटी मोना अमेरिका में बनी ‘सांसद भारत का किया नाम रोशन !जानिए भारतकी होनहार बेटी की और भी कुछ खासियतें ।

IMG-20190130-WA0025

रिपोर्टर.

भारत की इस होनहार बेटी मोना दास ने अमेरिका में गीता के साथ ली कुछ दिन पहले शपथ, लगाया जय हिंद का नारा।

बिहार पटना : मुंगेर जिले में जन्मीं मोना दास अमेरिका के वाशिंगटन राज्य के 47वें जिले की सीनेटर चुनी गई हैं।
उन्हें यह सफलता पहले ही प्रयास में मिली है।

डेमोक्रेटिक पार्टी की सदस्य मोना दास ने अमेरिकी सीनेट में धर्मग्रंथ गीता को हाथ में लेकर पद की शपथ ली।
मोना दास ने हिंदू पर्व मकर संक्रांति के मौके पर शपथ ली थी।
दास ने सिनसिनाटी यूनिवर्सिटी से मनोविज्ञान में स्नातक किया है।

मोना दास ने भारतीय संस्कृति के अनुसार गीता पर हाथ रख कर शपथ ली , मोना ने अपने संदेश में कहा कि एक लड़की को शिक्षित करके आप पूरे परिवार और आने वाली पीढ़ियों को बी शिक्षित करते हैं।
निर्वाचित सदस्य के रूप में दास ने लड़कियों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करने का निर्णय किया है।

मोना का जन्मस्थली !

मोना का जन्म 1971 में दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ही हुआ था।
मोना लगभग 12-14 साल की उम्र में दरियापुर गांव आईं थीं।

मोना ने अमेरिका के सिनसिनाटी विश्विविद्यालय से मनोविज्ञान में स्नातक की डिग्री ली , आगे उसने पिंचोट विश्वविद्यालय से मैनेजमेंट की डिग्री हासिल की ,लेकिन जनसेवा में रुचि रहने के कारण वो राजनीति से जुड़ गई।

राजनीति की राह मोना के लिए आसान नहीं था, लेकिन जनसेवा के बल पर वो आगे बढ़ती गईं , जनता का दिल जीत लिया और सीनेटर(Senator)बन गईं।
भारतीय बेटी मोना दास को हमारा सौ सौ बार सेल्यूट! जिसने अमेरिका में अपने देश का नाम रोशन किया।

 

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

Recent Posts