नन्हे मुन्हे मासूमो को मोबाइल देकर कर रहे है उनके जीवन से खिलवाड़ आखिर जिम्मेदार कौन ? माँ बाप या कोई और ?

images (5)

रिपोर्टर:-

आज कल छोटे छोटे नन्हे मासूम मोबाइल में दिन रात बिजी रहते है।

जैसे गेम खेलना,कार्टून सीरियल देखना जैसी एक आदत बन गया है।

लेकिन कही न कही इसके जिम्मेदार खुद बच्चो के माता पिता ही है जो अपने बच्चो को मोबाइल देकर खुद को फ्री समझना ये एक बहुत बड़ी लापरवाही का सबब है।

अगर बच्चा रो रहा है या जिद कर रहा है तो हम लोग तुरन्त मोबाइल देकर बच्चो को शांत कर देते है।
मोबाइल की आदत के कारण 10 प्रतिशत बच्चों की टेढ़ी हो गयी आंखे ।

20 प्रतिशत बच्चों की ज्यादा मोबाइल देखने से कमजोर हो गयी आंखे ।
इसलिए बच्चो को मोबाइल से दूर रखें।

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

प्रतिनिधी:- तिन्ही कम्पनी ची सेवा महागणार १ डिसेंबरपासून नवीन दर होणार लागू . टेलिकॉममधील संकटाचा परिणाम आता सामान्य ग्राहकांवर होणार आहे. देशातील टेलिकॉम कंपनी आयडिया,...

READ MORE

देश के सभी पत्रकारों के लिए आगये अच्छे दिन ,क्या है , केंद्र सरकार का नायाब तोहफा ? जानिए !

November 19, 2019 . by admin

रिपोर्टर:- कलमकारो के लिए वेलफेयर स्कीम में हुआ संशोधन। केंद्र सरकार ने लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ को मजबूती प्रदान करने के लिए पत्रकार वेलफेयर स्कीम’...

READ MORE

अनिल अंबानी के खिलाफ चीन के 3 बैंकों ने क्यो किया केस ? क्या है पूरा घोटाला जाने !

November 18, 2019 . by admin

रिपोर्टर:- अनिल अंबानी पर आरकॉम पर 4847 करोड़ बकाया होने का दावा! देश से लेकर विदेश तक जो कम्पनी डिफाल्टर और कर्ज में डूबी है।...

READ MORE

TWEETS