क्या है, मोदी लहर का कड़वा सच ?

images (34)

रिपोर्टर:-

देश की जनता ने नरेंद्र मोदी पर आंख बंद कर भरोसा किया था। जनता के इसी सानिध्य से एनडीए समर्थित भाजपा लगातार 2 बार केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में सफल रही।
हालांकि सरकार के द्वारा लिए गए अधिकतर फैसलों का देश की जनता ने स्वागत भी किया।
लेकिन जनता की मूलभूत सुविधाओं का अभाव, रोजगार का अभाव, रोजगार के अवसरों के अभाव में जनता ने सरकार के सभी अच्छे-बुरे कार्यों को दरकिनार कर दिया है।
निकटवर्ती होने वाले चुनाव परिणाम भाजपा के वजूद पर प्रश्न-चिन्ह अंकित करने के लिए काफी नही है क्या?
दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणाम ने मोदी युग के अंत का आगाज किया है।
बनावटी बातें-विज्ञापन, झूठे वायदों की हकीकत ने ‘मोदी लहर का कड़वा सच’ जनता के सामने स्पष्ट जाहिर कर दिया है।
धर्म और जातिवाद से नही,बल्कि। इस चुनाव को विकास के मुद्दों से जोड़कर देखा जा रहा है।
दिल्ली की जनता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री, अन्य प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों, और 200 से भी ज़्यादा सांसदों की भीड़ की ‘कमर तोड़ मेहनत’ को एक सिरे से खारिज कर दिया है।
भाजपा की इस हार को देश की जनता एक ‘बड़ी हार’ के रूप में देख रही है।
थके-हारे नेताओं की पेशानी पर पानी की चंद बूंदे भाजपा के मनोबल को क्षीण करने का कार्य कर रही है।
गफलत और गलतफहमी के शिकार कई लोगों के राजनीतिक जीवन को प्रभावित करने वाले हैं यह परिणाम।
राष्ट्रीय राजधानी में लगातार भाजपा को तीन बार शिकस्त देने वाले केजरीवाल के भाषणों में ईर्ष्या कम और आत्मविश्वास अधिक था।
अपनी मेहनत और दिल्ली की जनता की सेवा को आधार बनाकर उन्होंने एक बार फिर इतिहास रच दिया है।
भाजपा शिखर के अंतिम छोर से वापसी की राह पर आगे बढ़ चुकी है।
शायद यह सबक भी लिया होगा कि बड़-बोलापन नहीं, संघर्ष सहयोग करता है।

 

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

प्रतिनिधी:- करोना व्हायरसच्या जागतिक संकटामुळे जग आर्थिक मंदीच्या उंबरठ्यावर येऊन पोहोचलं आहे. अमेरिका आणि चीनसारख्या महासत्ता करोनाच्या विळख्यात सापडल्यामुळे जगाची आर्थव्यवस्था संकटात सापडली आहे. या...

READ MORE

क्या आप चाहते है कि आपके अपनो के साथ ऐसा घटीत हो? क्यों दिया जा रहा है बेहद ही कड़ी चेतावनी भरा संदेश ?

March 27, 2020 . by admin

रिपोर्टर:- यदि आपका कोई परिवारजन कोरोना से पॉजिटिव आता है तो उसे प्रशासन उठा कर ले जाएगा। उसे अलग थलग कर देगा। उससे आपको या...

READ MORE

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष  वसीम रिज़वी ने कोरोना वायरस को लेकर जो विवादित बयान दिया है,ठीक है ऐसे में वह अगर कोरोना से मरेगा तो सब से पहले उसकी लाश को दफनाने के बजाय क्यो न जला दिया जाये ?

March 26, 2020 . by admin

रिपोर्टर:- हाल ही में कोरोना वायरस को लेकर उत्तर प्रदेश शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने एक विवादित बयान दिया था कि अगर...

READ MORE

TWEETS