कौन है चहलारी नरेश, आज भी उनके वीरता के किस्से सुनाये जाते है ? जाने !

IMG-20200613-WA0086

रिपोर्टर:-

आज उनके बलिदान दिवस पर चहलारी नरेश को नमन किया जा रहा है।
कांग्रेस वक्ताओं ने श्रद्धांजलि देकर उनकी वीरता के किस्से सुनाए।

बहराइच 1857 के स्वतंत्रता आंदोलन में ब्रितानिया हुकूमत के छक्के छुड़ाने वाले अमर शहीद चहलारी नरेश बलभद्र सिंह का बलिदान दिवस शहर के कलेक्ट्रेट स्थित सेनानी भवन सभागार में मनाया गया ।

कार्यक्रम में वक्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि देकर नमन किया ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता अधिवक्ता भगवान बक्स सिंह सेंगर ने की जबकि संचालन पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अनिल त्रिपाठी ने किया ।
कार्यक्रम का आयोजन चहलारी नरेश उत्तराधिकारी आदित्य भान सिंह द्वारा किया गया।
कार्यक्रम को अनेक वक्ताओं ने संबोधित किया अपने संबोधन में अध्यक्षता कर रहे श्री सेंगर ने कहा कि चहलारी नरेश का इतिहास अमर है ऐसे वीर सेनानी को हम सभी शत शत प्रणाम करते हैं ।

उन्होंने अपनी वीरता से अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे ।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चहलारी नरेश उत्तराधिकारी आदित्य भान सिंह ने अवध के राजाओं का इतिहास बताते हुए चहलारी नरेश की वीरता की कहानियां सुनाई उन्होंने अपनी कविता बलभद्र कै गाथा सब लंदन मयहा गावत है के माध्यम से चहलारी नरेश को नमन किया तथा कहा कि युवा पीढ़ी को उनसे सीखने की जरूरत है ।

उन्होंने कहा कि बाराबंकी के महादेवा में बेगम हजरत महल की चुनौती को स्वीकार करते हुए पान का बीड़ा उठाकर चहलारी नरेश बलभद्र सिंह ने अवध का सेनापति बनना स्वीकार कर अंग्रेजों के विरुद्ध संघर्ष का ऐलान किया था ।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सेनानी परिषद संरक्षक व पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष अनिल त्रिपाठी ने बलभद्र सिंह की वीरता को नमन किया व कहा कि चहलारी नरेश की गाथा अमर है इसको कभी भुलाया नहीं जा सकता।

कार्यक्रम में बोलते हुए सेनानी परिषद के प्रशासनिक महामंत्री रमेश मिश्र ने कहा कि बलभद्र सिंह ने मात्र अल्पायु में ही ओवरी के मैदान में अंग्रेजों के छक्के छुड़ाए थे ऐसे वीर पुरुष को हम सभी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।
कार्यक्रम में बोलते हुए कांग्रेस नेता ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह ज्ञानू ने कहा कि जिस प्रकार महाराणा ने अकबर की गुलामी स्वीकार नहीं की थी उसी तरह से बलभद्र सिंह ने अंग्रेजों के विरुद्ध संघर्ष का एलान करके उनकी पराधीनता स्वीकार नहीं की थी।
ऐसे वीर पुरुष को शत शत नमन है।

कार्यक्रम को कांग्रेस नेता आदर्श अग्रवाल, भानु प्रताप द्विवेदी , कर्मचारी नेता सरदार सरजीत सिंह, कांग्रेस नेता गोपीनाथ, इंजीनियर जय प्रकाश मिश्रा, आकिब नदीम एडवोकेट, खालिद सलमानी, बविम अध्यक्ष हर्षित त्रिपाठी, मुकेश श्रीवास्तव सहित अनेक लोगों ने संबोधित किया ।
इस मौके पर चहलारी नरेश वंशज श्यामू सिंह, शिक्षक अश्वनी सिंह, विजेंदर सिंह सहित तमाम अन्य लोग मौजूद रहे।

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

रिपोर्टर:- मुख्यमंत्री के हवा हवाई वादों और दौरों से उत्तर प्रदेश की हवा निकल गई, अलीगढ़ की जहरीली शराब से हुई मौतों की जिम्मेदार हैं...

READ MORE

केंद्र की मोदी सरकार का पुरानी तर्ज पर लिया बड़ा फैसलागैर मुस्लिम शरणार्थियों को देगी नागरिकता पर मुस्लिमो को नही?

May 30, 2021 . by admin

रिपोर्टर:- भारत की नरेंद्र मोदी सरकार ने गैर-मुस्लिम शरणार्थियों की नागरिकता को लेकर बड़ा फैसला किया है। देश के 13 जिलों में रहे पाकिस्तान, बांग्लादेश...

READ MORE

नागरिकता क़ानून का आदेश, 28 मई 2021को केंद्रीय गृह मंत्रालय का क्या है नये आदेश की पहल?

May 29, 2021 . by admin

रिपोर्टर :-  केंद्रीय गृह मंत्रालय (MHA) ने अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बांग्लादेश से आए गैर-मुस्लिम शरणार्थियों से भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन मांगे हैं। केंद्र सरकार ने...

READ MORE

TWEETS