कितनी बड़ी शख्सियत है,जिसने लाल किले पर ब्रिटिश हुकूमत का झंडा उतारकर तिरंगा लहराया, एक महान स्वतंत्रता सेनानी, कुशल राज नेता, महान देश भक्त , प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के नाना शाहनवाज खान को देश में क्यों नही याद किया जाता ?

ये हैं आजाद हिन्दुस्तान में लाल किले पर ब्रिटिश हुकूमत का झंडा उतारकर तिरंगा लहराने वाले, महान स्वतंत्रता सेनानी, कुशल राजनेता, महान देशभक्त, प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेता शाहरूख खान के नाना, पूर्व केंद्रीय मंत्री, आज़ाद हिन्द फौज के मेजर जनरल, सुभाष चंद बोस के साथी *मुस्लिम राजपूत ‘जनरल शाहनवाज खान’।

इस मुल्क के लिए जिन लोगों ने अपना सबकुछ कुर्बान कर दिया, उनमें जनरल शाहनवाज खान का नाम अगली पंक्ति में आता है।
लालकिले में हर रोज शाम को लाइट एंड साउंड का जो कार्यक्रम होता है, उसमें नेताजी के साथ जनरल शाहनवाज खान की आवाज रहती है।

बँटवारे के वक़्त जब मुसलमान यहाँ से पाकिस्तान जा रहे थे तो इस मुल्क से बेलौस मोहब्बत के चलते पाकिस्तान से मेजर शाहनवाज खान वापस भारत चले आए। अपना लगभग पूरा परिवार पाकिस्तान में छोड़कर यहाँ आकर बस गए।

पंडित नेहरु के कहने पर इन्होंने मेरठ लोकसभा से चुनाव लड़ा और मेरठ लोकसभा सीट से चार बार सांसद बनें, साथ ही साथ केंद्र में मंत्री भी रहे।
लेकिन ये भी प्रकृति का खेल देखिए कि 1965 में भारत पाक युद्ध में पाकिस्तान की तरफ़ से इनके बेटे कर्नल महमूद अली युद्ध में शामिल थे। आप यहाँ केन्द्रीय मंत्री थे तो दूसरी तरफ बेटा पाकिस्तान सेना में बड़ा अफ़सर था। बँटवारे का दर्द इससे बड़ा और क्या हो सकता है।

हालाँकि उस वक़्त कुछ नासमझ लोग शाहनवाज खान साहब से इस्तीफ़ा लेने पर अड़े थे, शाहनवाज साहब ने मन भी बना लिया था इस्तीफ़ा देने का पर लाल बहादुर शास्त्री ने खुलकर इनका साथ दिया और विरोधियों को करारा जवाब दिया।

मादर ए वतन के सच्चे सपूत की यौम ए पैदाईश पर मुबारकबाद।* बस अफ़सोस इस बात का है इनकी कुर्बानियों को ये देश लगभग भूल चुका है। आज इन्हें कोई याद करने वाला नहीं है। न ही कांग्रेस, न सरकार, न ही समाज।

अफ़सोस, इतनी महान शख़्सियत को आजतक भारत रत्न नहीं दिया गया, हालाँकि जस्टिस काटजू इसकी माँग कर चुके हैं।

सोजन्य से
मुस्लिम राजपूत वैलफ़ेयर एसो।

संवाद; शाहिद

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

सुशील कुमार पाण्डेय महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होंगी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु अंतिम संस्कार में दुनियाभर के करीब 500 विश्वनेता होने वाले...

READ MORE

विश्व बैंक कोई सरकारी बैंक नही पर इस बैंक के कुल कितने मालिक है? जानिए

June 21, 2022 . by admin

अफजल इलाहाबाद क्या आप जानतें हैं कि विश्व बैंक के मालिक सिर्फ़ 13 परिवार हैं ? जी हां विश्व बैंक सरकारी बैंक नहीं है, इसमें...

READ MORE

मिडल ईस्ट में ये एक पिद्दी सा देश है 15,20साल पहले इसकी कोई अहमियत नहीं थी अचानक ही दुनिया के सामने वो धूमकेतु की तरह उभर ,दूजिया का मीडिया हाउस बना ,कैसे इसे जानिए

June 8, 2022 . by admin

संवाददाता राशिद मोहमद खान मिडिल ईस्ट में एक मामूली सा देश है-कतर पन्द्रह बीस साल पहले इसकी कोई अहमियत नहीं थी। इसके बाद अचानक से...

READ MORE

TWEETS