अचानक ही पटाखों की MRP में 40 से 55 फीसदी तक की गिरावट, क्या कारण ?

images (22)

इंदौर :- 

अब आपको पटाखा खरीदते वक्त दुकानदार से रेट को लेकर ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी !
इस बार पटाखों के पैकेट पर वास्तविक अधिकतम फुटकर मूल्य (एमआरपी) प्रिंट होकर आए हैं !

यह रेट जीएसटी की वजह से प्रिंट हुए हैं क्योंकि पटाखा उत्पादक को एमआरपी के मान से ही जीएसटी देना पड़ रहा है।

यही कारण है कि एमआरपी में 40 से 55 फीसदी तक की गिरावट आई है।

2017 तक पटाखा उत्पादक कई गुना अधिक एमआरपी डालकर फुटकर बाजार में भेज देते थे जिससे फुटकर दुकानदार लोगों से पटाखों पर तगड़ा मुनाफा कमाते थे, वह अब नहीं कमा पाएंगे !

अभी तक पटाखों के पैकेट पर एमआरपी से वास्तविक रेट का पता ही नहीं चला पाता था !

पटाखा विक्रेता ग्राहक को उनकी एमआरपी के पैसे जोड़कर 15 से 30 फीसदी तक छूट दे देता था। इससे लोगों को पटाखे महंगे मिलते थे, लेकिन केंद्र सरकार ने पटाखों पर 18 फीसदी जीएसटी लगा दिया !

जीएसटी की वजह से वास्तविक रेट प्रिंट हुए हैं, ग्राहक चाहे तो इस बार पक्का बिल भी ले सकते हैं जो कि अभी तक अमूमन कोई नहीं लेता था। पटाखे के पैकेट पर एमआरपी के प्रिंट में भी अंतर आया है !

2017 में एमआरपी की साधारण चिट लगी रहती थी, लेकिन इस बार बार कोड के साथ पूरी जानकारी लिखनी पड़ी है !

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

रिपोर्ट:- तारीख : 8 नवम्बर 2016 फैसला : नोटबंदी प्लानिंग : शून्य। किसी मंत्री को छोड़िये RBI अधिकारीयों को भी जानकारी नहीं थी इस लिए...

READ MORE

लॉक डाउन के संकट समय मे भूखो को खाना मुहैया करती है कुछ समाज सेवि हस्तिया, और भी एक समाज सेवी चेहरे का सबके लबो पर है नाम , वह कौन है ? जाने !

April 15, 2020 . by admin

रिपोर्टर:- देश में लाक डाउन की अवधि बढ़ गई है । 25 मार्च से अब तक कई समाजसेवियों ने समाज की व्यवस्था को संभाला है...

READ MORE

लॉकडाउन पार्ट 2 मई 3 तक लागु, क्या बन्द और क्या चालू रहेगा ? जाने !

April 15, 2020 . by admin

रिपोर्टर:- रेल सड़क हवाई और लोकल यातायात बन्द रहेगा। स्कूल कॉलेज शैक्षणिक संस्थान बन्द रहेंगे। निजी दफ्तर और फैक्ट्रियां बन्द रहेंगे। सभी तरह के पूजा...

READ MORE

TWEETS