अगर आज ही की तारीख में एस एम एस कंपनी बंद नहीं हुं तो हम खुद इस कंपनी को ताला लगवाएंगे:सपा नेता अबू आसिम आजमी

यदि
८ अगस्त तक एसएमएस कंपनी बंद नहीं हुई तो मैं खुद कंपनी को ताला लगाकर बंद कर दूँगा – अबू आसिम आज़मी
झुग्गी-झोपड़ी में रहनेवालों की जिंदगी के साथ सरकार का खिलवाड़ नहीं होने दूँगा – अबू आजमी

मुंबई: मानखुर्द शिवाजी नगर गोवंडी में चल रही एसएमएस कंपनी 8 अगस्त तक बंद नहीं हुई तो मैं खुद कंपनी को ताला लगाकर बंद कर दूँगा, ऐसा वक्तव्य आज महाराष्ट्र समाजवादी पार्टी के नेता और विधायक अबू आसिम आजमी ने मुंबई मराठी पत्रकार संघ में आयोजित पत्रकार परिषद में दिया ।

उन्होंने कहा कि गोवंडी शिवाजीनगर में दलित मुसलमानों की आबादी है, इसलिए इन झुग्गियों की उपेक्षा की जा रही है, इस कंपनी द्वारा पर्यावरण को नुकसान पहुंचाया है और निवासियों का जीवन दयनीय हो गया है | गोवंडी शिवाजीनगर में रहनेवाले निवासियों की औसत आयु ३९ से ४० वर्ष की है।
 अस्पताल के कचरे सहित जानवरों के कचरे को यहां जलाया जाता है और कंपनी के जहरीले धुएं से पर्यावरण प्रदूषित होता है जो मानव जीवन को खतरे में डालता है।

पिछले दस साल से हमने इस मुद्दे पर एसएमएस कंपनी हर स्तरपर जाकर विरोध किया है लेकिन फिर भी इस कंपनी को हटाया नहीं गया है। २०२१ में कहा गया था कि यह कंपनी बंद हो जाएगी। हम बार-बार पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे से मिले हैं और मांग की है कि इस कंपनी को बंद करो लेकिन हमारी मांग पर कंपनी को बंद करने के बजाय, यह कंपनी अभी भी यहां काम कर रही है।

अगर यह कंपनी ८ अगस्त तक बंद नहीं हुई, तो ८ अगस्त को मैं कंपनी को लॉक करके अपना जन्मदिन आन्दोलन के साथ  मनाऊंगा, चाहे कुछ भी हो नतीजा, हम पीछे हटने को तैयार नहीं हैं, उन्होंने कहा, जन्मदिन मनाएं और न मनाएं, लेकिन उस दिन दोपहर 2 बजे एसएमएस कंपनी के विरोध में शामिल हों और एसएमएस बंद करने के लिए आवाज उठाएं।

अबू आसिम आजमी ने कहा कि गोवंडी शिवाजीनगर के लोग जहरीले धुएं से परेशान हैं और उनमें कई बीमारियां भी पाई जाती हैं, लेकिन सरकार उदासीनता दिखा रही है क्योंकि यह एक स्लम एरिया है, इसलिए सरकार इसकी अनदेखी कर रही है । जहरीले धुएं से यहां इतनी बदबू आती है कि लोग अपने घरों में चैन से नहीं रह सकते, जबकि छोटे और तंग घरों में इस कंपनी के कारण कीड़े भी पैदा हो जाते हैं,

 यहां तक कि शौचालय के कीड़े भी घरों तक पहुंच जाते हैं । सरकार इसपर ध्यान नहीं दे रही है, इसके लिए अगर यह कंपनी अभी बंद नहीं हुई है, तो हम इस डेथ मर्चेंट कंपनी को जबरदस्ती ताला लगाकर बंद करने पर मैहर हो जानेंगे देंगे। आगे बोलते हुए इन्होने कहा कि, हमसे कहा गया था कि खालापुर में इसे स्थानांतरित करेंगे लेकिन खालापुर में इसे शुरू नहीं किया गया,

 अब यह पता चला है कि इस कंपनी की तरह तलोजा में भी एक फैक्ट्री है, इसलिए हम मांग करते हैं कि यह कंपनी इस फैक्ट्री में अस्पताल का कचरा जलाए क्योंकि यहाँ आबादी नहीं है जबकि एस.एम.एस कंपनी घनी आबादी वाले इलाकों में जहरीली गैस और धुएं से लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। सरकार का झुग्गीवासियों की जिंदगी से खिलवाड़ असहनीय है, इसलिए हम सड़कों पर उतरकर अपना विरोध तेज करने को तैयार हैं। 

संवाद:
यासीन कुरेशी

SHARE THIS

RELATED ARTICLES

LEAVE COMMENT

सुशील कुमार पाण्डेय महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होंगी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु अंतिम संस्कार में दुनियाभर के करीब 500 विश्वनेता होने वाले...

READ MORE

विश्व बैंक कोई सरकारी बैंक नही पर इस बैंक के कुल कितने मालिक है? जानिए

June 21, 2022 . by admin

अफजल इलाहाबाद क्या आप जानतें हैं कि विश्व बैंक के मालिक सिर्फ़ 13 परिवार हैं ? जी हां विश्व बैंक सरकारी बैंक नहीं है, इसमें...

READ MORE

मिडल ईस्ट में ये एक पिद्दी सा देश है 15,20साल पहले इसकी कोई अहमियत नहीं थी अचानक ही दुनिया के सामने वो धूमकेतु की तरह उभर ,दूजिया का मीडिया हाउस बना ,कैसे इसे जानिए

June 8, 2022 . by admin

संवाददाता राशिद मोहमद खान मिडिल ईस्ट में एक मामूली सा देश है-कतर पन्द्रह बीस साल पहले इसकी कोई अहमियत नहीं थी। इसके बाद अचानक से...

READ MORE

TWEETS